MENU

मनरेगा धन गबन के मामले में अवर अभियंता को ईओ डब्ल्यू की टीम ने दबोचा



 27/Aug/20

जनपद चंदौली में वर्ष 2006-07 के दौरान राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना अंतर्गत विकास खंड चकिया को आंबटित सरकारी कार्य को ठेकेदार तथा सरकारी मशीनरी ने आपस मे दुरभिसंधि करके सरकारी धन लगभग 13.50 लाख रुपये का बंदरबाट कर लिया। जनपद चंदौली के विकास खंड चकिया अंतर्गत ग्राम जंगल चुड़िया ग्राम सभा पुरानाडीह के लिए क्षेत्र पंचायत कोष से मनरेगा अंतर्गत आबंटित धन द्वारा तालाब निर्माण पोखरा खुदाई, सड़क निर्माण व बंधी निर्माण कार्य शासन के निर्देश पर होना था। इस चिन्हित कार्यो में जिम्मेदार लोगों के द्वारा ग्रामीण मजदूरों से कार्य न कराकर उनके स्थान पर ट्रैक्टर और आधुनिक मशीनों का प्रयोग कर अनियमितता की गई तथा फर्जी लेबरों का नाम और हस्ताक्षर बनाकर मास्टर रोल तैयार किया गया और लगभग 13.50 लाख का सरकारी धन का गबन कर लिया गया। तत्कालीन अवर अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण सेवा मूलचंद वर्मा के विरुद्ध धारा- 419, 420, 467, 468, 471, 120 बी, 34 भादवि और धारा 13(2) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अपराध में संलिप्तता पायी गई।

बृहस्पतिवार को डी प्रदीप कुमार पुलिस अधीक्षक आर्थिक अपराध अनुसंधान संगठन वाराणसी (ईओ डब्ल्यू) के द्वारा गठित टीम ने इस प्रकरण में वांछित अभियुक्त अवर अभियंता मूलचंद वर्मा को नियुक्ति स्थल प्रयागराज के विकास खंड मांडा से पुलिस निरीक्षक सुनील कुमार वर्मा और उनके टीम निरीक्षक चंदप्रकाश त्रिपाठी, आरक्षी शशिकांत सिंह, विनीत पांडे और रोहित सिंह के द्वारा दोपहर में कस्बा मांडा स्थित आवास के पास से गिरफ्तार किया गया।गिरफ्तार अवर अभियंता को एन्टी करप्शन कोर्ट वाराणसी में प्रस्तुत किया जायेगा।

 


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.



Ad Area

सबरंग