MENU

IPL क्रिकेट मैच में सट्टेबाजी करनें वालें दो आरोपियों की अग्रिम जमानत याचिका मंजूर



 15/Oct/20

अदालत में बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता शशिकांत राय ऊर्फ चुन्ना राय, बिपीन शर्मा व शैलेन्द्र प्रताप सिंह सरदार ने पक्ष रखा।

अपर जिला सत्र न्यायधीश दशम देवाशीष की अदालत ने घर में आईपीएल मैंच में सट्टेबाजी कराने के मामले मे ग्राम दीनापुर थाना सारनाथ निवासी आरोपित राजेन्द्र जायसवाल व आशीष गुप्ता निवासी हुकुलगंज थाना पांडेयपुर-लालपुर की अग्रिम जमानत मंजूर कर ली। अदालत ने आरोपितों द्वारा 25-25 हजार रुपए के दो बंदपत्र देने पर व निम्न शर्तों के अधीन रिहा करने का आदेश दिया। अदालत में बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता शशिकांत राय ऊर्फ चुन्ना राय, बिपीन शर्मा व शैलेन्द्र प्रताप सिंह सरदार ने पक्ष रखते हुए कहा कि आरोपित निर्दोष हैं। उसके द्वारा कथित अपराध कारित नहीं किया गया है। कथित अपराध जमानती प्रकृति का है। घटना का कोई भी जन साक्षी नहीं है। उसके माकन में न तो पुलिस द्वारा छापा मारा गया और न तो किसी की गिरफ्तारी हुई है और न कोई बरामदगी हुई है। जो बरामदगी दिखाई गयी है उससे आवेदक का कोई संबंध व सरोकार नहीं है। अभियुक्त न तो सट्टा खेलता है और न ही खेलवाने का कार्य करता है। उसका राज कम्यूनिकेशन के नाम से पहाड़िया में मोबाइल की दुकान है जहाँ से मोबाइल की विक्री व रिचार्ज का कार्य होता है। न्यायालय ने अभियुक्त के अधिवक्ताओं की तर्को को सुनने के बाद आरोपीयो की अग्रिम जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया।

अभियोजन पक्ष प्रभारी निरीक्षक इंद्र भूषण यादव मय हमराहि के पंचकोसी चौराहे पर मामूर थें कि जरिए मुखबिर से सूचना मिलीं कि दीनापुर निवासी राजेन्द्र जायसवाल आईपीएल क्रिकेट पर अपने घर में हार जीत की बाजी लगाते हुए मोबाइल से सट्टा खेल व खेलवा रहें हैं। मुखबिर की सूचना पर पुलिस अधीक्षक से अनुमति प्राप्त कर दीनापुर स्तिथ राजेन्द्र जायसवाल के मकान पर एक बारगी मकान के अंदर प्रवेश किये तो कमरें के अंदर बैठे तीन व्यक्तिय दिखाई दिये जो पुलिस की आहट पाकर कमरें से निकल कर भागने लगे जिन्हें पकड़ने का प्रयास किया गया तो दो व्यक्ति मकान के पिछले दरवाजे से अंधेरे का फायदा उठा कर भागने में सफल रहे तथा एक व्यक्ति मौके से आवश्यक बल प्रयोग कर समय करीब 11:15 बजे कमरें के अंदर पकड़ लिया गया। पकड़े गये व्यक्ति ने अपना नाम अंकित जायसवाल बताया। तलाशी से बिस्तर पर 49950/ रूपये नकद व 13 अदद मोबाइल फोन, सात अदद रजिस्टर, दो अदद कलम, दो अदद कैल्कुलेटर मिले। रजिस्टर में आईपीएल सट्टे से संबंधित विवरण कोड भाषा में लिखा गया है। पकड़े गये व्यक्ति ने बताया कि हमलोग आईपीएल क्रिकेट मैच में पालीवार हार जीत, ओवरवार, विकेटवार, रनवार की बाजी सट्टा लगाकर जुआ खेलते व खेलाते है। मोबाइल फोन पर खेलने वालों के फोन आते हैं जिनको सुन कर हमलोग कापी में नोट कर देतें है। उसी हार जीत पर पैसे का लेन देन होता है। बरामद रूपयें सट्टे की बाजी लगाने वालों का है। कैल्कुलेटर से पैसों का हिसाब जोड़ा जाता है। भागे गयें व्यक्तियों का नाम राजेन्द्र जायसवाल ऊर्फ राज तथा आशीष गुप्ता बताया। यह भी बताया कि हमलोग मिलकर सट्टे बाजी का कार्य काफी दिनों से कर रहे हैं। इस काम में राजेन्द्र जायसवाल ऊर्फ राज मुख्य व्यक्ति हैं। अभियुक्त अंकित जायसवाल को हिरासत में लिया गया तथा बरामद सामान को सर्व मुहर कर नमूना मोहर तैयार किया गया तथा फर्द मौके पर लिखी गयी। फर्द बरामदगी के आधार पर दिनांक 29 सितंबर 2020 को समय 8 : 09 बजे संबंधित थाने पर अभियुक्तगण अंकित जायसवाल, राजेन्द्र जायसवाल तथा आशीष गुप्ता के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कराया गया।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.



Ad Area

सबरंग