MENU

एनडीआरएफ ने गंगा घाटों पर छठ पूजा को सुरक्षित और सफल बनाने की संभाली कमान



 21/Nov/20

वाराणसी स्थित 11 एनडीआरएफ सदैव से ही वाराणसी के साथ साथ उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश में विभिन्न प्रकार की आपदाओं, धार्मिक स्नानों और मेलों में लोगों की सुरक्षा के लिए तैनात होती है । कार्तिक महीने में मनाया जाने वाला छठ पूजा त्योहार मुख्य रूप से सूर्यदेव की उपासना का पर्व है. इस पर्व पर लाखों श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए एनडीआरएफ वाराणसी के लगभग सभी मुख्य घाटों पर तैनात है । एनडीआरएफ की 06 टीमों को विभिन्न घाटों जैसे दशाश्वमेध घाट, राजघाट, किर्कियाघाट ,विश्वसुन्दरीघाट , केदार घाट, शाश्त्रिघाट, सामने घाट , राजेंद्र प्रसाद घाट, अस्सी घाट और नजदीकी घाटों पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा में गंगा नदी में तैनात किया गया है ।

एनडीआरएफ की 06 टीमें 24 नावों, वाटर एम्बुलेंस और लगभग 100 से अधिक बचावकर्मियों के साथ वाराणसी के प्रमुख घाटों पर तैनात है । इन टीमों में प्रत्येक में गोताखोर, पैरामेडिक्स, डीप डाइविंग सेट, लाइफ जैकेट, लाइफ बॉय व अन्य बचाव उपकरणों के साथ छठ पूजा के दौरान घाटों पर तैनात है । छठ पूजा के पावन पर्व पर जहाँ लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ जमा होती है ऐसे समय में एनडीआरएफ के बचाव कर्मी अधिक गहरे पानी वाली जगहों को चयनित कर श्रद्धालुओं को वहा ना जाने की हिदायत दे रहे है एनडीआरएफ के बचाव कर्मी घाटों पर मोटर बोट व प्रशिक्षित गोताखोरों की सहायता से नदी में श्रधालुओं पर अपनी पैनी नज़र रख रहे है और किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए तैयार है । पूजा के दौरान एनडीआरएफ के बचावकर्मी समय समय पर श्रद्धालुओं के लिए आवश्यक सुरक्षा निर्देश भी जारी कर रहे है ।

इस अवसर पर श्री कौशलेश राय , कमांडेंट ,11 एनडीआरएफ ने बताया कि " छठ पूजा के दौरान पिछले वर्ष की भांति एनडीआरएफ की टीमें वाराणसी के घाटों पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए तैनात की गयी हैं और मैं सभी श्रद्धालुओं से अनुरोध करता हूँ के वे सावधानी बरतते हुए इस पर्व को मनाएं और एनडीआरएफ पूरी श्रद्धा के साथ उनके इस पर्व को सफल बनाने के लिए व किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए उनकी सुरक्षा में उपस्थित है "

 


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.



Ad Area

सबरंग