MENU

बाहुबली विधायक मुख्ता र अंसारी के बुलेट प्रुफ एंबुलेस मामले में अजय राय ने योगी सरकार किया तीखा हमला



 03/Apr/21

लहुराबीर स्थित अपने आवास पर आयोजित एक पत्रकार वार्ता में पूर्व विधायक अजय राय ने सूबे की योगी सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा कि मुख्तार अंसारी द्वारा प्रयोग की जा रही एम्बुलेंस गोरखपुर की भाजपा नेता डॉ अलका राय के हॉस्पिटल के नाम से दर्ज है । आख़िर यह कैसे सम्भव हुआ ? आज पूरी भाजपा इस अपराध में लिप्त है । सूबे की योगी सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर्दे के पीछे से मुख्तार अंसारी को मदद कर रही है । इससे स्पष्ट है कि आज प्रदेश सरकार की मंशा साफ नहीं है । आज देश और प्रदेश में भाजपा की सरकार है , फिर भी स्व.कृष्णानन्द राय के हत्यारों को कैसे जमानत मिली ? जनता जानना चाहती है कि आख़िर मुख़्तार से भाजपा के नेताओं का क्या रिश्ता है ? हमे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है । सच की जीत होगी । मैंने न्यायालय से अपनी सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सुरक्षा की मांग की थी । अतिरिक्त की बात तो छोड़ दीजिए जो सुरक्षा दस प्रतिशत देकर मैने ली थी, उसे भी योगी सरकार ने छीन लिया है । आज जब सरकार बैकफुट पर आयी है तब जाकर प्रदेश सरकार ने डॉ अलका राय के ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज किया है ,ताकि वह खुद को बचाने के लिए लीपापोती कर सके । अब देखना यह है कि इस मुकदमे का हस्र क्या होता है ? जिस एम्बुलेंस का प्रयोग मुख्तार कर रहे हैं, वह पूर्णतः बुलेटप्रुफ है । आख़िर, यह बिना सरकार की मिलीभगत के कैसे सम्भव है ? हम कांग्रेस के लोग इस पूरे मामले की निष्पक्ष जाँच की मांग करते हैं, ताकि पूरे मामले की सत्यता प्रमाणित की जा सके ।

पूर्व विधायक अजय राय ने वर्तमान भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के लोग मुख़्तार की खुलेआम मदद कर रहे हैं। मैं मुख़्तार अंसारी के ख़िलाफ़ अपने दिवंगत भाई स्व अवधेश राय की हत्या का चश्मदीद गवाह हूँ, पर मेरी सुरक्षा किस तरह हटाई गई, यह सर्व विदित है । क्या बात है कि कानपुर के दुर्दांत अपराधी विकास दूबे को मध्यप्रदेश से उत्तर प्रदेश ले आने का काम उत्तर प्रदेश पुलिस लेकर आती है, जबकि मुख़्तार अंसारी को पंजाब पुलिस लेकर आ रही है, आख़िर यह दोहरा मापदंड क्यों ? आज जितने भी लोग प्रदेश सरकार में बैठे हैं वे कहीं न कहीं इन आपराधिक घटनाओं में शामिल है । आजकी पत्रकार वार्ता में महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राघवेन्द्र चौबे, छावनी परिषद पूर्व उपाध्यक्ष एवं पार्षद शैलेंद्र सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित थे ।

 


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.



सबरंग