MENU

नवरात्रि में लोकगीत गायक राजन तिवारी के गीतों की मची धूम



 13/Oct/18

किसी ने सच ही कहा है कि देर आओ दुरूस्त आओ, आज भोजपुरी भाषा की परम्परा को नया आयाम देने में भोजपुरी के आन, बान, शान, प्रतिष्ठित गायक राजन तिवारी ने अपनी लोक विधा से जुड़े तमाम गीत गाये हैं। जिसमें आज कल चल रहे नवरात्रि में माँ का भजन जन-जन में लोकप्रिय बना हुआ है। राजन तिवारी के गीतों में कर्ण प्रियता तो है ही,  साथ ही उनकर गीतों की रचना में साहित्य के साथ ही भाव पक्ष में देवी माँ का स्वरूप झलकता है। लोकगायक श्री राजन के गीतों की प्रस्तुति में विभिन्न युगों में माँ के अनेकों अवतारों को भक्तों को जीवंत दर्शन का आभास कराते हैं। श्रोता उनके गीतों को सुनकर इतने भाव विभोर हो जाते हैं क्यों ने साक्षात माँ के शक्ति का आत्म बोध होता है। श्री राजन की माने तो आज के नये गायको में में उनके जैसी प्रस्तुति देखने को नहीं मिलती। राजन तिवारी अपने गीतों में सतयुग, द्वापर, त्रेता, दृष्टांत को कलयुग मे प्रस्तुत किया है। राजन तिवारी के गीतों की लोकप्रियता वाराणसी ही नहीं पूरे भारत वर्ष भर में है। उनके गीतों की लोकप्रियता इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, प्रिंट मिडिया सहित उनके गीतों के कैसेट कई कम्पनी द्वारा समय-समय पर प्रकाशित और प्रसारित होते रहते है। जिसमें इस वर्ष 2018 मे टी-सीरीज द्वारा गाया गया भजन गीत को लोगों के बीच काफी लोकप्रिय रहा। श्री तिवारी अपने प्रशंसकों के उस उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.