MENU

प्रख्यालत स्त्रीर रोग विशेषज्ञ डॉ. शिल्पी ने की आत्महत्या



 16/Nov/18

सुसाइड नोट में पति की मौत और बेटे के द्वारा संपत्ति हड़पने की बात लिखी

वाराणसी के कैंट थाना क्षेत्र के महाबीर मंदिर के पास रहने वाली स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. शिल्पी राजपूत ने शुक्रवार 16-11-2018 को अपने घर में आत्महत्या कर लिया। जानकारी पर पुलिस मौके पर पहुंची और डॉ. शिल्पी के लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस को मृतका के पास से सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उन्होंने अपने पति की मौत और अपने लड़के के द्वारा संपत्ति हड़पने की बात लिखी है।

डॉ. शिल्पी की मौत को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। डॉ. शिल्पी के ऊपर अपने पति सरकारी चिकित्सक रहे डॉ. डीपी सिंह की हत्या कराने का आरोप था। 13 सितम्बर 2007 को पाण्डेयपुर क्षेत्र में डॉ. डीपी सिंह की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में डॉ. शिल्पी को हत्या की साजिश रचने के आरोप में छह अन्य आरोपियों के साथ जेल भेजा गया था। बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी। डॉ. शिल्पी को करीब से जानने वाले कुछ लोगों ने बताया कि मौजूदा वक्त में वह ड्रग्स का सेवन करने के साथ ही अवसादग्रस्त थीं।

कैंट पुलिस मौके से बरामद सुसाइड नोट को कब्जे में लेकर मामले की जांच कर रही है। डॉ. शिल्पी के पास से बरामद सुसाइड नोट में लिखा है कि वह अपनी मर्जी से खुदकुशी कर रही हैं, लेकिन 17 साल तक हैवान जैसे पति के साथ रहने के बाद उन्हें उसी के हत्या के मामले में जेल भेज दिया गया। सब कुछ ठीक होता इससे पहले ही लड़का संपत्ति के फेर में मेरी हत्या कराना चाह रहा है।

इस मामले में सुसाइड नोट तथा अन्‍य पहलुओं पर कैंट पुलिस बारिकी से जांच कर रही है, यह तो जांच के बाद ही खुलासा होगा कि आखिर आत्‍महत्‍या का सच क्‍या है।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment