MENU

जिला कारागार नैनी के तिहरे हत्या काण्ड में वांछित अभियुक्त पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार



 20/Nov/18

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी द्वारा जनपद वाराणसी में वांछित पुरस्कार घोषित व टॉप-10 अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में तथा दिये गये निर्देशों के अनुपालन में पुलिस अधीक्षक नगर व क्षेत्राधिकारी कोतवाली के मार्गदर्शन में कल रात्रि दिनांक 19-11-2018 को प्रभारी निरीक्षक राजीव सिंह व उनकी टीम संदिग्ध अपराधियों की तलाश में आदिकेशव घाट सरायमोहन रोड, चन्दर शहीद तिराहे पर संदिग्ध वाहनों व व्यक्तियों की संग्घन चेकिंग की जा रही थी। तभी वरुणा पुल की तरफ से एक व्यक्ति तेजी से मोटरसाईकिल से आ रहा था कि अचानक पुलिस टीम को देखकर भागना चाहा जिसे रोकने का प्रयास किया गया तो जान से मारने की नीयत से पुलिस टीम पर 32 बोर की पिस्टल से फायर किया। बचाव करते हुए पुलिस पार्टी की तरफ से एक अदद फायर किया गया, जिससे घेर कर करीब 22.50 बजे रात्रि गिरफ्तार किया गया।

पुलिस पूछताछ में अभियुक्त ने अपना नाम मनोज शुक्ला पुत्र स्व. दयाशंकर निवासी ए 38/109 क विजयीपुरा, कोनिया थाना-आदमपुर, वाराणसी का बताया। आगे बताया कि वह जनपद के पंजीकृत गैंग डी-5 संतोष शुक्ला गैंग का सदस्य हूँ व उसका सगा भाई भी हूँ। हमदोनों एक साथ मिलकर जनपद में कई आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिए हैं। पूर्व में कई बार जेल भी जा चुका हूँ, वर्ष 2016 में मेरा छोटा भाई संतोष शुक्ला थाना-लक्सा अन्तर्गत रामापुरा के सभासद शिवसेठ की हत्या में जिला कारागार सहारनपुर में बंद है। करीब दो वर्षों से जनपद से फरार चल रहा हूँ। बीते 5-6-2016 को केन्द्रीय कारागार नैनी के सामने अपने साथी मुन्नु तिवारी, दीपक वर्मा व अन्य साथीयों के साथ मिलकर हमलोगों ने देशी बम व फायरिंग करके तीन लोगों की हत्या कर दिया था। जिसमें पाँच लोग घायल हुए थे, मुन्ना तिवारी को एसटीएफ टीम ने पकड़ लिया है, मेरा नाम जब प्रकाश में आया तब से में भागकर मुम्बई चला गया, कुछ दिन तक दिल्ली में काम भी किया। अपने भाई संतोष शुक्ला से मिलने जिला कारागार सहारपुर मैं कई बार गया था। भाई के रंगदारी माँगे हुए पैसों की मैं व्यापारियों से वसूली करता था।

गिरफ्तार करने वाली गठित पुलिस टीमों में प्रभारी निरीक्षक राजीव सिंह थाना-आदमपुर, उ.नि. देवीशरण चौकी प्रभारी लाट भैरव, उ.नि. रविकानत चौहान थाना-आदमपुर, उ.नि. रविकान्त चौहान थाना-आदमपुर, हे.का. जितेन्द्र नाथ सिंह, विजय बहादुर सिंह, अशोक सिंह, का. नवीन सिंह, सौरभ पाण्डेय, मुख्तार खाँ थे। यह जानकारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आनन्द कुलकर्णी ने पुलिस लाईन सभागार एक प्रेसवार्ता में दिया।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment