MENU

युवा खिलाड़ी ही देश के भविष्य : संदीप सिंह



 30/Nov/18

सनबीम एकेडमी, नॉलेज पार्क शाखा में महान हॉकी खिलाड़ी एवं पूर्व भारतीय कप्तान संदीप सिंह का आगमन हुआ, विद्यालय की निदेशिका पूनम मधोक एवं सचिव जगदीप मधोक के साथ मुख्य अतिथि संदीप सिंह ने दीप प्रज्जवलन किया। पूर्व कप्तान के स्वागत में विद्यार्थीयों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया इसके बाद विद्यालय के सचिव एवं निदेशिका ने हॉकी खिलाड़ी संदीप को स्मृति चिह्न प्रदान किया। श्री संदीप ने छात्रों को अपने जीवन से जुड़ी बातों को साझा किया और यह संदेश दिया कि जीवन में कभी हार नहीं मानना चाहिए। हॉकी खिलाड़ी के करियर की बात करें तो हरियाणा में जन्मे संदीप सिंह ने बाल्यकाल से ही हॉकी खेलना प्रारंभ कर दिया था, मात्र 17 वर्ष की आयु में ही उन्होंने 2004 में सुल्तान अलजान शाह कप में हॉकी खेला। मात्र 2 वर्ष में ही भारतीय टीम के बड़े सितारे बन गये। विश्व के सर्वश्रेष्ठ फ्लिकरों में शामिल हो गये और संदीप सिंह का नाम ही फ्लिकर सिंह हो गया। उनके जीवन के कठिन दौर में 2006 में ट्रेन यात्रा के समय दुर्घटनावश गोली लगने से वे पूरे 1 वर्ष के लिये पैरालिसिस के शिकार हो गये। लेकिन अपने दृढ़ निश्चय और कठिन परिश्रम से स्वस्थ होकर पुन: भारतीय टीम में वापसी किया और कई बार भारतीय हॉकी टीम की जीत के नायक रहे।

सनबीम एकेडमी सामनेघाट में हुई एक प्रेसवार्ता में संदीप सिंह ने बताया कि इस हॉकी वल्र्ड कप में हमारे देश के जीतने की संभावनायें हैं, बशर्ते हमारी टीम पूर्व में की हुई गलतियों से निजात पाये। वल्र्ड कप में हॉकी टीम की संभावनाओं के बारे में उन्होंने आगे बताया कि कनाडा ने बेल्जियम को हराया और अर्जेटीना ने स्पेन को हराया कोई भी टीम दिन में विशेष में अपना अच्छा प्रदर्शन कर सकती है। उन्होंने कहा कि ड्रैग फ्लिकर के रूप में उन्होंने 10-11 साल भारतीय टीम को अपनी सेवायें दीं। हॉकी राष्ट्रीय खेल होने के बावजूद उसे क्रिकेट जैसी लोकप्रियता नहीं मिल पा रही है इस प्रश्न के जवाब में बताया कि बीसीसीआई प्राईवेट संस्था है उसे प्रायोजक जुटाने और व्यापारीकरण करने की पूरी छूट है, लेकिन हॉकी के साथ ऐसा नहीं है। पूर्व भारतीय कप्तान ने संदीप सिंह ने बताया कि युवा खिलाड़ी ही देश के भविष्य हैं और उन्हें स्‍कूल व कॉलेज स्तर से प्रशिक्षण और पर्याप्त सुविधाएं मिलें तो निश्चित रूप से नई प्रतिभाएं सामने निकल कर आयेंगी।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से सलोनी मधोक, केके पंडा, संजीव झा, रघुराज सिंह एवं कंचन सिंह आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम के संयोजक रोहन मधोक ने बताया कि महान खिलाड़ी सिंह को आमंत्रित करने का यही उद्देश्य था कि विद्यार्थी उनकी जिन्दगी से प्रेरणा लें एवं भविष्य में सफलता प्राप्त करें।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment