MENU

अष्टम अखिल भारतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन का सफल समापन



 10/Jun/19

वाराणसी। हिन्दू जनजागृति समिति ने 27 मई से 8 जून के कालखंड में अष्टम अखिल भारतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन गोवा के.रामनाथ देवस्थान के.विद्याधिराज सभागृह में आयोजित किया था । इस अधिवेशन में बांग्लादेश तथा भारत के 25 राज्यों के कुल 174 हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों के 520 से अधिक प्रतिनिधि सम्मिलित हुए थे । देश में जनकल्याणकारी हिन्दू राष्ट्र की स्थापन हो। इस हेतु सभी कटिबद्ध हैं और इस दिशा में संगठित रूप से कार्य करने का सभी ने निश्‍चय किया । इस अधिवेशन के अंतर्गत 27 और 28 मई को राष्ट्रीय अधिवक्ता अधिवेशन का आयोजन किया गया । 28 मई को प्रथम उद्योगपति अधिवेशन भी लिया गया । 29 मई से 4 जून की अवधि में हिन्दुत्वनिष्ठों का अखिल भारतीय हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन संपन्न हुआ । इसमें 2 जून को 1 दिवसीय सोशल मीडिया कॉन्क्लेव का समावेश था । 5 से 8 जून की अवधि में  हिन्‍दू राष्ट्र संगठक प्रशिक्षण एवं अधिवेशन संपन्न हुआ ।

मंदिर सरकारीकरण के विरुद्ध राष्ट्रस्तरीय ष्मंदिर.संस्कृति रक्षा अभियानष् चलाएंगे !

अधिवेशन में हिन्दुओं की राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय समस्याओं के साथ ही मंदिरों के सरकारीकरण के विषय में व्यापक चर्चा की गई । भारत का संविधान  सेक्‍युलर होते हुए भी सरकार हिन्‍दुओं के मंदिरों का व्यवस्थापन कैसे देख सकती है। ऐसा प्रश्‍न सर्वोच्च न्यायालय ने दो बार उपस्थित किया है । भारत में केवल हिन्दुओं के मंदिरों का सरकारीकरण करने वाली सरकार मस्जिद चर्च आदि का सरकारीकरण करने का साहस क्यों नहीं दिखाती। सरकारीकरण किए मंदिरों की स्थिति भयावह है । अनेक मंदिर समितियों में भ्रष्टाचार चल रहा है । अधिगृहीत मंदिरों की परंपराएं, व्यवस्था आदि में हस्तक्षेप कर उसमें परिवर्तन किया जा रहा है । ये प्रयास श्रद्धालु मन का हिन्दू कदापि सहन नहीं कर सकता । मंदिरों के लिए हिन्दुओं की एक व्यवस्थापकीय समिति का गठन किया जाए । इस समिति में शंकराचार्य, धर्माचार्य, धर्मनिष्ठ अधिवक्ता, धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधि इत्यादि नियुक्त किए जाएं । मंदिरों के संदर्भ में निर्णय सेक्‍युलर सरकार द्वारा न लिया जाए। उसे लेने का अधिकार इस समिति को दिया जाए, इन सब मांगों के लिए आगामी वर्ष में पूरे भारत के हिन्दुत्वनिष्ठ संगठन एकत्रित रूप से  मंदिर , संस्कृति रक्षा अभियान नाम से राष्ट्रव्यापी अभियान चलाएंगे ऐसी जानकारी हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक सद्गुरु, डॉ. चारुदत्त पिंगळेजी ने दी ।

हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों द्वारा अधिवेशन में निश्‍चित किया गया समान कृति कार्यक्रम !

51 स्थानों पर हिन्दू राष्ट्र जागृति सभाएं आयोजित की जाएंगी !

16 नए स्थानों पर प्रतिमास ष्राष्ट्रीय हिन्दू आंदोलनष् आरंभ किए जाएंगे !

कुल 26 स्थानों पर हिन्‍दू राष्ट्र संगठक प्रशिक्षण कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी !

38 स्थानों पर वक्‍ता-प्रवक्ता कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी !

236 स्थानों पर हिन्‍दू राष्ट्र जागृति बैठकों का आयोजन होगा !

पूरे देश में 27 स्थानों पर साधना शिविर 23 स्थानों पर सूचना अधिकार कार्यशालाएं 23 स्थानों पर सोशल मीडिया शिविर और 18 स्थानों पर शौर्य जागरण शिविर आयोजित किए जाएंगे !

यह जानकारी उत्तर प्रदेश एवं बिहार राज्य के हिन्दू जनजागृति समिति के समन्वयक विश्वनाथ कुलकर्णी जी ने दी ।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.