MENU

बसपा सांसद अतुल राय की जमानत अर्जी हाईकोर्ट ने की खारिज, सुप्रीम कोर्ट जायेगा मामला



 16/Nov/19

मऊ जिला के घोसी संसदीय क्षेत्र से बसपा सांसद अतुल राय की जमानत अर्जी इलाहाबाद हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया है। यह आदेश न्यायमूर्ति रमेश सिन्हा ने दिया है। सांसद अतुल यूपी कालेज की छात्रा से यौन शोषण करने के आरोप में जेल में बंद हैं। अतुल राय के खिलाफ लोकसभा चुनाव के दौरान एक मई, 2019 को वाराणसी के लंका थाना में आइपीसी की धारा 420, 376, 504, 506 के तहत यौन शोषण का मुकदमा दर्ज हुआ था।

आरोप था कि अतुल राय ने छात्रा को अपनी पत्नी से मिलाने के बहाने वाराणसी स्थित फ्लैट में बुलाकर उसका यौन शोषण किया। याची के अधिवक्ता ने जमानत के समर्थन में कहा कि एफआईआर घटना के सालभर बाद दर्ज कराई गई है। याची को राजनीतिक विद्वेष के कारण झूठा फंसाया गया है, जबकि परिवादी की ओर से जमानत अर्जी का विरोध करते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता विनय सरन ने अपने तर्क में कहा कि आरोपी सांसद का लंबा आपराधिक इतिहास है। इस मुकदमे में उन पर दुष्कर्म का गंभीर आरोप है। वह गवाहों पर दबाव बना रहे हैं और यदि उन्हें जमानत पर रिहा किया गया तो साक्ष्य प्रभावित कर सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आरोप तय न होने के कारण पीड़िता का बयान नहीं हो पा रहा है। कोर्ट ने सुनवाई के बाद जमानत अर्जी खारिज कर दी।

1,22,018 हजार मतों से हराया था बीजेपी सांसद को

दुष्कर्म का आरोप लगने के बाद भी लोकसभा चुनाव में अतुल राय ने मोदी लहर में बीजेपी के सांसद हरिनारायण राजभर को 1,22,018 हजार मतों से हराया था।

बताया जाता है कि अतुल राय का लंबा आपराधिक इतिहास होने के नाते हाइकोर्ट ने जमानत देने से इनकार किया है। अब इस आदेश के किलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की जा सकती है। चौकाघाट जेल में निरुद्ध अतुल राय के समर्थकों को यह खबर किसी झटके से कम नहीं थी।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.