MENU

PAC आरक्षी भर्ती के रि-मेडिकल टेस्ट में फर्जीवाड़ा के आरोप में डा. कैलाश के पुत्र डॉ शिवेश सहित दो गिरफ्तार



 23/Nov/19

बडे़ भाई डॉ रितेश जायसवाल पर पीएनयू क्लब में चोरी व लूट के दो मामले दर्ज है।

डा. कैलाश प्रसाद का परिवार हमेश सुर्खियों में रहता है, लेकिन इस बार मामला कुछ और है। कैंट पुलिस ने शुक्रवार को पीएससी भर्ती परीक्षा के मेडिकल टेस्ट में धांधली का बड़ा खुलासा किया है। एसपी सिटी दिनेश सिंह ने पत्रकारों कर बताया कि रि-मेडिकल टेस्ट में फेल छात्रों को पास कराने के नाम पर पैसे वसूले जा रहे थे। इस मामले में डा. कैलाश जायसवाल के पुत्र व दीनदयाल अस्पताल के डा. शिवेश जायसवाल और नारायनपुर निवासी आकाश बेनवंशी को गिरफ्तार किया गया है जबकि अन्य फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। खुलासे में कैंट थाना प्रभारी अश्वनी कुमार चतुर्वेदी, मनीष कुमार बघेल, संदीप कुमार, रामानंद यादव आदि पुलिसकर्मी शामिल थे।

पीएससी की सिपाही भर्ती में मेडिकल टेस्ट होता है और टेस्ट में फेल लोगों को री-मेडिकल कराया जाना था। इसके लिए सरकारी चिकित्सकों की टीम गठित थी। इसी साल अगस्त के अंतिम सप्ताह में री-मेडिकल होना था। पुलिस को सर्विलांस के जरिए सूचना मिली थी कि इस मामले में कुछ चिकित्सक व पीएससी से जुड़े लोग अभ्यर्थियों से टेस्ट पास कराने के नाम पर तगड़ा पैसा वसूल रहे थे। पुलिस ने गोपनीय ढंग से सारे मामले की जांच की। इस घटना के खुलासे में सर्विलांस से मिली जानकारी सबसे महत्वपूर्ण साबित हुई। पुलिस ने इस मामले में चिकित्सक समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि पीएससी 36 बटालियन रामनगर के आरक्षी रमेश सिंह, शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय अस्पताल के चिकित्सक डा. एसके पांडेय, पवन कुमार सिंह व गाजीपुर पुलिस लाइन के आरक्षी राजेश कुमार सिंह फरार है। पुलिस का दावा है कि पूछताछ में आरोपियों ने अभ्यर्थियों से पैसे वसूलने व उसका बंटवार करने की बात स्वीकार की है। पुलिस के इस खुलासे को बड़ी सफलता माना जा रहा है।

नौकर की संदिग्ध मौत पर लास गायब करने के आरोप में जेल जा चुके हैं डा.शिवेश जायसवाल

डा. शिवेश जायसवाल पूर्व में भी जेल की हवा खा चुके हैं। डा.शिवेश जायसवाल पर नौकर की संदिग्ध मौत हो जाने पर उसका शव गायब करने का आरोप लगा था इस मामले में पुलिस ने डाक्टर को गिरफ्तार कर जेल भेजा था और बाद में वह जमानत पर बाहर आये थे इसके बाद अब मेडिकल टेस्ट में धांधली में भी इसी चिकित्सक का नाम आ गया।

बडे़ भाई पर भी चोरी व लूट का मामला चल रहा है

डॉ. कैलाश प्रसाद का परिवार कई मामलों में घिरा हुआ है। आरोपी डाक्टर के बड़े भाई डॉ. रितेश जायसवाल पर पीएनयू क्लब में पिछले वर्ष चोरी व लूट के मामलों में दो मुक़दमे कैंट थानें में पंजिकृत है। उन दोनों मामलों में चार्जशीट लगीं हुईं।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.