MENU

 विश्वनाथधाम से तोड़ा गया नीरा राडिया का अस्पताल



 30/Jan/20

सीएम योगी आदित्यनाथ ने किया था उद्घाटन

विश्वनाथधाम में आने वाले दर्शनार्थियों के स्वास्थ्य को देखते हुए चर्चित नीरा राडिया के का प्राथमिक उपचार के लिए बनाए गए अस्पताल नयति हेल्थ केयर को तोड़ कर हटा दिया गया।

बताते चलें कि 29 सितम्बर 2019 को अस्पताल का उद्घाटन यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था। इसे संचालित करने की जिम्मेदारी नयति हेल्थकेयर नामक संस्था के पास थी। इसी कंपनी की चेयरपर्सन विवादित लॉबिस्ट नीरा राडिया हैं, जिनकी उपस्थिति में श्री काशी विश्वनाथ आरोग्य मंदिर (मोबाइल अस्पताल) का उद्घाटन सूबे के सीएम ने 4 माह पूर्व किया था।

 उद्घाटन के समय यह खबर अखबार की सुर्खियां बनी थी। लेकिन जब 4 माह बाद अस्पताल टूटा तो कोई खबर नहीं बनी। आखिर यह अस्पताल आनन-फानन में खोला ही क्यों गया था ? किसे फुर्सत है विकास के इस दौर में यह पूछने की कि नीरा राडिया का अस्पताल क्यों तोड़ा गया।

क्लाउन टाइम्स ने जब इस खबर की पड़ताल के लिए काशी विश्वनाथ मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी विशाल सिंह से संम्‍पर्क करने का प्रयास किया कई बार फोन किया यही उत्तर मिला कि साहब मीटिंग में है या बाहर गए हैं।

मामला विश्वनाथ धाम से जुड़े ऐसे अस्पताल का था, जहॉं लाखों की संख्या में देशभर से आने वाले लाखों दर्शनार्थियों के स्वास्थ्य से जुड़ा था, लिहाजा अचानक से अस्पताल को तोड़ने के साथ ही उसके वजूद को मिटाना बड़ी बात थी।

सूत्रों से मिली जानकारी के विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण की जिम्मेदारी PWD के माध्यम से जिस कार्यदायी संस्था पीएसपी को दी गई है उसी का कार्यालय खोलने के लिए अस्पताल को न केवल तोड़कर हटा दिया गया बल्कि उसका वजूद ही मिटा दिया गया, अब वहां न तो डॉक्टर है और ना ही एंबुलेंस सेवा।जिसे स्वयं सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वयं आकर विवादित लॉबिस्ट नीरा राडिया के अस्पताल का किया उद्घाटन, नवरात्र की दी शुभकामनाएं, बाद में तस्वीर हटा ली गयी।

कभी बड़े कॉरपोरेट घरानों के लिए लॉबिंग किया करती थीं नीरा राडिया

नीरा राडिया वर्षों पहले उस वक्‍त सुर्खियों में थीं जब वे बड़े कॉरपोरेट घरानों के लिए लॉबिंग किया करती थीं। किन्‍तु कई राजनेताओं, उद्योगपतियों और मीडियाकर्मियों से कथित बातचीत का टैप लीक होने के बाद वह विवादों में घिर गईं थीं।

 

 

वर्षों बाद यूपी के सीएम योगी के साथ विश्‍वनाथ धाम में दिखीं लॉबिस्ट नीरा राडिया

 वर्षों पश्‍चात विवादित कॉरपोरेट लॉबिस्ट नीरा राडिया उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ विश्‍वनाथ धाम में उद्घाटन के दौरान पुन: मीडिया की सुर्खियों में छा गयी। मुख्‍य मंत्री के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से नीरा राडिया के साथ उद्घाटन की फोटो भी ट्वीट किया गया, लेकिन बाद में उसे हटा लिया गया। राडिया फिलहाल नयति हेल्थकेयर की चेयरपर्सन हैं। इसी कंपनी के अंतर्गत वाराणसी में श्री काशी विश्वनाथ आरोग्य मंदिर (मोबाइल अस्पताल) का उद्घाटन किया गया है।

सीएम ने इस मौके पर नवरात्र की शुभकामनाएं भी दीं। उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस बारे में लिखा गया है, “मुख्यमंत्री श्री @myogiadityanath ने नयति हेल्थ केयर द्वारा संचालित (मोबाइल अस्पताल)

नीरा राडिया ने साल 2016 में हेल्थकेयर सेक्टर में कदम रखा था और सबसे पहले मथुरा में 351 बेड वाला सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल खोला था जिसका उद्घाटन टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने किया था। यह अस्पताल कैंसर रोगियों के लिए खास सुविधाएं उपलब्ध करा रहा है। राडिया की योजना टायर-2 और टायर-3 श्रेणी के शहरों में स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने की है।

इसी कड़ी में श्री काशी विश्वनाथ आरोग्य मंदिर (मोबाइल अस्पताल) का उद्घाटन किया गया था और इसके विस्‍तारी करण के लिए रामनगर क्षेत्र में पूर्व काशिराज की करोड़ो की जमीन पर अस्‍पातल खोलने की योजना भी थी किन्‍तु रामनगर दुर्ग में भाई बहन के बीच प्रापर्टी विवाद के चलते सफलता नहीं मिली। इसी बीच विश्‍वनाथ मंदिर से भी अस्‍पताल का वजूद समाप्‍त हो गया।

बताते चलें कि 2 जी स्पेक्ट्रम घोटाले में भी लॉबिंग करने के आरोप नीरा राडिया पर लगे थे। उसके पश्‍चात उन्होंने अपनी जनसंपर्क कंपनी वैष्णवी कॉर्पोरेट कम्युनिकेशंज को बंद कर दिया था।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.