MENU

 भदोही   में  CEPC द्वारा  



 26/Feb/20

2020 को कालीन निर्यात संवर्धन परिषद ने विदेश व्यापार संयुक्त महानिदेशालय, वाराणसी के सहयोग से कालीन भवन, मर्याद पट्टी, भदोही के कांफ्रेंस में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस संगोष्ठी का उद्घाटन श्री राजेन्द्र प्रसाद, आई ए एस, जिलाधिकारी, भदोही के द्वारा किया गया, इस संगोष्ठी के मुख्य अतिथि, श्री सिद्ध नाथ सिंह अध्यक्ष, कालीन निर्यात संबर्धन परिषद , श्री ओमकार नाथ मिश्रा, अध्यक्ष, अखिल भारतीय कालीन निर्माता संघ, भदोही, श्री हरेंद्र प्रताप यादव, संयुक्त आयुक्त, डी आई सी, भदोही, श्री अमित कुमार, डिप्टी डी जी एफ टी, वाराणसी की उपस्थिति में किया गया। प्रशासनिक समिति के वरिष्ठ सदस्य श्री उमेश कुमार गुप्ता, श्री अब्दुल रब, श्री राजेन्द्र प्रसाद मिश्रा, श्री हुसैन जाफर हुसैनी आदि ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। 

श्री सिद्ध नाथ सिंह ने संगोष्ठी में उपस्थित श्री राजेंद्र प्रसाद, आई ए एस, जिलाधिकारी, भदोही और निर्यातक सदस्यों का गर्मजोशी से स्वागत किया। श्री सिद्ध नाथ सिंह ने अपने संबोधन में उल्लेख किया कि " निर्यात बन्धु संगोष्ठी" के तहत परिषद सदस्य-निर्यातकों की सभी समस्याओं के समाधान के लिए प्रतिबद्ध है। श्री सिंह ने आगे उल्लेख किया कि यद्यपि भारतीय कालीन उद्योग कठिन समय का सामना कर रहा है, लेकिन कालीन निर्यात संवर्धन परिषद सदस्यों की मदद करने और भारतीय हस्तनिर्मित कालीन निर्यात को बढ़ावा देने के लिए सभी संभव कदम उठा रही है। श्री सिंह ने आगामी सरकार में जीआई के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए जीआई के तहत पंजीकरण की आवश्यकता बताई।

श्री सिंह ने सदस्यों को वर्ष 2020-21 के लिए कालीन निर्यात संवर्धन परिषद द्वारा आयोजित होने वाली आगामी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय कालीन मेलो से अवगत कराया। श्री सिंह ने सदस्यों से आगामी मेलों में भाग लेने और सरकार के द्वारा दिए गए सुविधाओं का लाभ उठाने का अनुरोध किया। श्री सिंह ने सदस्यों को कोलंबिया, चिली और मैक्सिको जैसे लैटिन अमेरिकी बाजार पर जोर देने की सलाह देकर अपना संबोधन समाप्त किया।

श्री राजेंद्र प्रसाद, जिलाधिकारी, भदोही ने अपने संबोधन में श्री सिद्ध नाथ सिंह, अध्यक्ष, सीईपीसी और श्री अमित कुमार, डी जी एफ टी, वाराणसी को इस निर्यात बन्धु संगोष्ठी के आयोजन के लिए बधाई दी। उन्होंने यह कहा कि देश के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए भारत के माननीय प्रधान मंत्री की दृष्टि में "भारतीय कालीन उद्योग को हो रही समस्याओं तथा निर्यातकों द्वारा सामना किए जा रहे मुद्दों को हल करने के लिए" निर्यात बंधु संगोष्ठी "एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

श्री अमित कुमार, डिप्टी DGFT ने DGFT की योजनाओं पर एक प्रस्तुति दी और उल्लेख किया कि भारत के माननीय प्रधान मंत्री के 5 ट्रिलियन अर्थव्यवस्था के दृष्टिकोण को प्राप्त करने के लिए कैसे CEPC और DGFT संयुक्त रूप से उत्तर प्रदेश क्षेत्र से निर्यात को बढ़ाने के लिए एक साथ काम कर रहे हैं। उन्होंने कालीन निर्यातकों को जी आई के विषय में विस्तार से बताया और जीआई टैग की अधिकृत उपयोगकर्ता के दीर्घकालिक लाभों के बारे में भी बताया।

 

 


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

Can't read the image? click here to refresh.