MENU

भारतीय स्‍टेट बैंक 67 वां स्‍टेट बैंक दिवस मनाया



 01/Jul/22

अंचल के प्रमुख धीरज कुमार ने वृक्षारोपण किया

भारतीय स्‍टेट बैंक वाराणसी के उप महाप्रबंधक धीरत कुमार के नेतृत्‍व में 67 वां स्‍टेट बैंक दिवस मनाया गया। इस अवसर पर रक्‍तदान शिविर, मेडिकल कैंप एवं वृक्षारोपण का आयोजन किया गया। वाराणसी अंचल के अंतर्गत 10 जिला मुख्‍यालयों पर भी रक्‍तदान शिविर का आयोजन किया गया। अंचल के प्रमुख धीरज कुमार ने वृक्षारोपण किया।

1जुलाई 1955 को इम्‍पीरियल बैंक का नाम बदलकर स्‍टेट बैंक आफॅ इंडिया रखा गया था, तभी से प्रत्‍येक वर्ष 1 जुलाई को स्‍टेट बैंक दिवस के रूप में मनाया जाता हैं। वैसे एसबीआई का इतिहास 217 वर्ष पुराना है। अत: यह कहा जा सकता है कि हम 217 वर्षों के अनुभव के साथ 67 वर्ष का युवा बैंक है। वर्ष 1806 में ही कोलकता में बैंक ऑफ कोलकता की स्‍थापना हुई थी, जिसे बाद में बैंक ऑफ बंगाल के नाम से जाना गया। 1912 में बैंक ऑफ मुंबई और बैंक ऑफ मद्रास का बैंक ऑफ बंगाल में विलय के उपरांत इम्‍पीरियल बैंक बना।

22,000 से अधिक शाखाएं 56,000 के करीब एटीएम एवं 68,000 बैंकिग कॉरेसपॉडेट के साथ एसबीआई की उपस्थित हर क्षेत्र में है। हमारे लिए गौरव की बात है कि भारत की जनसंख्‍या की एक तिहाई आबादी लगभग 46.77 करोड़ भारतीय स्‍टेट बैंक के ग्राहक है। विदेशों में भी हमारी 227 शाखा एवं कार्यालय है। आजादी का अमृत महोत्‍सव में बेहतर भारत के निर्माण के लिए आपकी सहभागिता का स्‍वागत करते है।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

1891


सबरंग