MENU

बच्चों की जिंदगी से खेल रहे लक्ष्मी चिल्ड्रेन हास्पिटल का पंजीयन रद्द करने का निर्देश : डॉ. संदीप चौधरी CMO



 07/Sep/22

क्लिनिक के नाम पर पंजीकृत अस्पताल बिना डॉक्टर के भर्ती मरीजों का हो रहा था इलाज

वाराणसी के कबीचौरा के पिपलानी कटरा स्थित लक्ष्मी मेमोरियल मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल में बच्चों की जिंदगी से खेल रहे वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. एम.के. गुप्ता क्लीनिक का पंजीकरण रद्द करने का हुआ निर्देश

खबर है जिलाधिकारी वाराणसी कौशल राज शर्मा के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से अवैध अस्पतालों के खिलाफ  चलाये जा रहे अभियान की जद में पिपलानी कटरा स्थित लक्ष्मी मेमोरियल मल्टी स्पेशिलिटी चिल्ड्रेन हास्पिटल के औचक निरीक्षण में भारी गड़बड़ियां मिली।

खबर है कि वाराणसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संदीप चैधरी के निर्देशन में भेजी गई टीम ने निरीक्षण के दौरान पाया कि अस्पताल में कई गंभीर मरीज भर्ती थे लेकिन वहां कोई योग्य चिकित्सक नहीं मिला, जबकि चिकित्सालय का पंजीकरण क्लीनिक के रूप में किया गया है। इतना ही नहीं बायो मेडिकल वेस्ट प्रबन्धन में भी लापरवाही पायी गयी। इसे देखते हुए उक्त अस्पताल को बंद कराने के साथ ही उसका पंजीयन रद्द करने का निर्देश दिया गया है।

बताते चलें कि डॉ. एमके गुप्ता बनारस के वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ हैं। जिनका आज से लगभग 3 दशक पूर्व पिपलानी कटरा के इसी क्लीनिक में आवास था और यहीं पर गम्भीर मरीजों भर्ती करते रहे, साथ ही कबीर चौरा हॉस्पिटल के सामने एक कटरे में बैठकर आस-पास के मरीजों को देखा करते थे।

समय बदला और डॉक्टर साहब पर पर लक्ष्मी की कृपा हुई तो  उन्होंने करोड़ो रूपये की लागत से खजूरी क्षेत्र में लबे रोड लक्ष्मी मेमोरियल मल्टी स्पेशिलिटी चिल्ड्रेन हास्पिटल के नाम से बच्चों का नया हॉस्पिटल खोल लिया है, लेकिन पैसे की लालच ने डॉक्टर साहब को इतना अंधा बना दिया है कि वे अपने पुराने क्लीनिक के नाम पर बाकायदा अस्पताल चलाकर उसमें मासूम बच्चों को इलाज के नाम पर भर्ती करके उनकी जिंदगी के साथ खेल रहे हैं।
इतना ही नही डॉक्टर साहब ने पिपलानी कटरा क्षेत्र की भोली भाली जनता को भ्रमित करने के लिए बाकायदा क्लीनिक के मुख्य द्वार पर एक बोर्ड लगाया है जिस पर सबसे उपर अपना नाम डॉ. एमके गुप्ता सीनियर चिल्ड्रन स्पेशलिस्ट और उसके ठीक नीचे डॉ राजकुमार साहनी MANS, DCH और सबसे नीचे डॉ. वी.के. शर्मा मेडिकल ऑफिसर लक्ष्मी मेमोरियल चिल्ड्रन हॉस्पिटल पिपलानी कटरा वाराणसी लिखा है।

इस बारे में वाराणसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. संदीप चौधरी ने बताया कि अवैध निजी अस्पतालों के खिलाफ शुरू किये गये अभियान के तहत 6 सितम्बर मंगलवार को पिपलानी कटरा स्थित लक्ष्मी मेमोरियल मल्टी स्पेशिलिटी चिल्ड्रेन हास्पिटल के औचक निरीक्षण कराया गया निरीक्षण के समय श्याम बिहारी उपस्थित मिले जिन्होंने अपने को चिकित्सालय का कर्मचारी बताया तथा चिकित्सालय के सम्बन्ध में बाल रोग विशेषज्ञ एवं लक्ष्मी मेमोरियल मल्टी स्पेशिलिटी चिल्ड्रेन हॉस्पिटल, मकबूल आलम रोड, खजुरी, वाराणसी के संचालक / चिकित्सक डॉ. एम.के. गुप्ता से दूरभाष पर वार्ता करायी। डॉ. एम.के. गुप्ता ने दूरभाष पर उक्त चिकित्सालय का अपना होना स्वीकार किया तथा यह भी बताया कि इसे उन्होंने चिल्ड्रेन क्लीनिक के नाम पर ओ.पी.डी. के तौर पर पंजीकृत कराया है। चिकित्सालय के  निरीक्षण के दौरान 07 छोटे बच्चे भर्ती मिले, जो 02 से 03 दिनों से भर्ती थे और उनकी देखरेख हेतु कोई भी योग्य चिकित्सक अथवा पैरामेडिकल स्टाफ उपस्थित नहीं था। भर्ती मरीजों से निकलने वाले बायो मेडिकल वेस्ट का भी कोई प्रबन्धन नहीं किया जा रहा
था।  उपस्थित स्टाफ द्वारा जांच प्रक्रिया में सहयोग नहीं किया गया। डॉ. एम.के. गुप्ता को दूरभाष पर उक्त भर्ती 07 मरीजों को यहां से तत्काल हटाकर अन्य स्थान पर भर्ती कराते हुए इस चिकित्सा प्रतिष्ठान को बन्द करने के लिए कहा गया। साथ ही डॉ. एम.के. गुप्ता को कारण बताओ नोटिस देते हुए, चिल्ड्रेन क्लीनिक सी 23/5के, कबीरमठ, पिपलानी वाराणसी (पंजीयन संख्या ए.एल.-1189) का पंजीयन तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जाने की संस्तुति की गयी है।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

2546


सबरंग