MENU

बनारस में कथित रेप मामले में स्‍कूल संचालक से 25 लाख रूपये घूस मांगने का वीडियो वायरल होने से मचा हड़कंप



 13/Mar/23

सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने सूबे की योगी सरकार पर साधा निशाना

IPS officer Anirudh Kumar : जब से सूबे में योगी सरकार ने कार्यभार संभाला है तभी से मीडिया में सरकार  के द्वारा जीरो टॉरलेंस यानि भ्रष्‍टाचार मुक्‍त प्रदेश की बात प्रचारित किया जा रहा है, लेकिन भ्रष्‍टाचार की जड़ें इतनी गहरी हैं कि अब तो IPS अफसर के द्वारा करोड़ों रुपये घूस मांगने का वीडियो वायरल होने लगा है।

ताजा मामला प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में तैनात रहे पूर्व ASP चेतगंज रहे IPS अफसर अनिरुद्ध सिंह के 12 मार्च को वायरल हुए वीडियो से जुड़ा हुआ है।

खबर है कि ये वीडियो लगभग दो बरस पुराना है, इसमें IPS अफसर अनिरुद्ध सिंह सीधे तौर पर बनारस के प्रमुख स्‍कूल संचालक से 25 लाख रूपये घूस मांग रहे हैं। वर्तमान में वे उत्तर प्रदेश के मेरठ में एडिशनल एसपी (ग्रामीण) के पद पर तैनात हैं।

खबर है कि वीडियो के वायलर होते ही राज्य सरकार ने IPS अफसर अनिरुद्ध सिंह के खिलाफ जांच शुरू करने का फरमान जारी कर दिया है। इतना ही नहीं उनकी पत्नी IPS अफसर आरती सिंह के ख़िलाफ़ भी सरकार के निशाने पर हैं और उनकी भी जांच शुरू हो चुकी है। फिलहाल IPS अफसर आरती सिंह वाराणसी में पुलिस उपायुक्त के पद पर कार्यरत हैं।

वीडियो वायरल होते ही समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने ट्विटर पर सूबे की योगी आदित्यनाथ सरकार की आलोचना करते हुए दो टूक शब्‍दों में लिखा है कि "उप्र में एक आईपीएस की वसूली के इस वीडियो के बाद क्या बुलडोजर की दिशा उनकी तरफ बदलेगी या फिर फरार आईपीएस की सूची में एक नाम और जोड़कर संलिप्त भाजपा सरकार ये मामला भी रफ़ा-दफ़ा करवा देगी. उप्र की जनता देख रही है कि ये है अपराध के प्रति भाजपा की झूठी ज़ीरो टालरेंस की सच्चाई."

उप्र में डीजीपी मुख्यालय ने एक बयान जारी कर कहा कि वीडियो की जांच की जा रही है। पुलिस महकमा ये भी कह रहा है कि वायरल वीडियो लगभग दो साल पुराना है लेकिन मामले की गंभीरता को देखते हुए वाराणसी के पुलिस कमिश्नर मुथा अशोक जैन से तीन दिन के भीतर रिपोर्ट मांगी गई है।

मीडिया से प्राप्‍त खबरों में बिहार के रहने वाले 2018 बैच के IPS अधिकारी अनिरुद्ध सिंह का कहना है कि इस मामले में उन्हें क्लीन चिट मिल चुकी है। ये तब का मामला है जब वो ASP चेतगंज, वाराणसी में तैनात थे। जिसमें आरोपी पक्ष के द्वारा लगातार इन्फ्लुएंस करने का प्रयास किया जा रहा था। तब उसे ट्रैप करने के लिए उससे बातचीत की गई थी। ये सभी बातें आला अफसरों के संज्ञान में हैं। अब इस पुराने वीडियो को किसी ने डेढ़ साल बाद वायरल किया है।"

वहीं वायरल वीडियो में बनारस के स्‍कूल संचालक ने क्‍लाउन टाइम्‍स से इस पूरे मामले में कुछ भी बातचीत करने से सीधे तौर पर मना कर दिया। लेकिन यहां गौर करने वाली बात है कि स्‍कूल में पढ़ने वाली बच्‍ची के कथित रेप मामले में पूर्व IPS अधिकारी अनिरुद्ध सिंह पूरे मामले को रफा-दफा करने के लिये 25 लाख रूपये मांग करते नजर आ रहे हैं, आगे की डील करोड़ रूपये की रही है। स्‍कूल संचालक ने उसी वक्‍त इस वीडियो को प्रदेश के आला अधिकारीयों के साथ साझा किया था और साफ तौर पर सरकार को बताया उसी वक्‍त इन अधिकारीयों का फौरी तौर पर कार्यक्षेत्र बदल दिया गया। साथ ही जिस सफाईकर्मी ने बच्‍ची के साथ आपत्तिजनक हरकत किया उसे विद्यालय प्रबंधन के सहयोग से पुलिस ने तत्‍काल गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसमें विद्यालय प्रबंधन का कोई लेना-देना नहीं है। लेकिन जिले के तत्‍कालिन पुलिस कमिश्‍नरेट के ऑला अधिकारीयों के निर्देश पर विद्यालय के लगभग दर्जन भर लोगों से 12 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ के नाम पर रोके रखा था। आज भी बच्‍ची भी उसी विद्यालय में पढ़ रही है।

वायरल वीडियो में क्या है?

एसपी का जो वीडियो वायरल हुआ है, वो एक वीडियो कॉल का है. पूरी बातचीत पढ़िये:

IPS : देखिए लेट करके मत करिए. आज कितना भेज रहे हैं?

स्‍कूल संचालक : ऐसा है कि आज हम 10 या 20 भेजेंगे.

IPS : नहीं. (हंसते हुए)

स्‍कूल संचालक : भइया, निकालते हुए शक नहीं होगा लोगों को? दस लाख रुपये जब निकलता है अकाउंट से. अकाउंट में चेक से निकलता है. दिक्कत होती है.

IPS: कम से कम 25.

स्‍कूल संचालक : अच्छा.

IPS : आप भेजिए. बाकी मैं तरीका बताता हूं.

कुल मिलाकर भले ही उपरोक्‍त मामले में IPS ऑफिसर को क्‍लीन चिट मिल गई थी लेकिन भ्रष्‍टाचार का मामला सामने आने पर उन्‍हें सजा क्‍यों नहीं दी गई। क्‍योंकि क्‍लीन चिट मिलना इस बात की गवाही है कि जिस जांच अधिकारी ने उन्‍हें बाइज्‍जत बरी किया होगा उसकी जांच ही सवालों के घेरे में है। अब देखना है मीडिया में एक IPS अधिकारी की भ्रष्‍टाचार से जुड़ी वीडियो वायरल होने पर उसे क्‍या सजा मिलती है या इस बार भी उन्‍हें क्‍लीन चिट मिल जायेगी।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

1603


सबरंग