MENU

काशी को स्मार्ट सिटी से आगे अब वर्ल्ड क्लास सिटी बनाना है : योगी आदित्यनाथ



 30/Apr/23

माफियाओं और अपराधियों के लिए यूपी में कोई जगह नहीं

वाराणसी 29 अप्रैल।  काशी में विजय पर किसी को संदेह नहीं है। लोकसभा, विधानसभा से लेकर हर चुनाव में काशीवासियों का सहयोग सदैव मिला है। मगर इस बार हमारा लक्ष्य फुल मेजॉरिटी का बोर्ड बनाने पर है। डबल इंजन के साथ फुल मेजॉरिटी के ट्रिपल इंजन की ताकत से अब काशी को स्मार्ट सिटी से भी आगे बढ़कर वर्ल्ड क्लास सिटी बनाना है। 
उक्त विचार  प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कबीर चौरा रोड स्थित सरोजा पैलेस में भाजपा के महापौर प्रत्याशी अशोक तिवारी एवं‌ पार्षद प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित संवाद कार्यक्रम में काशी के प्रबुद्ध जनों को संबोधित करते हुए कही। 
      उन्होंने कहा कि आज काशी अपनी सांस्कृतिक एवं आध्यात्मिक विरासत के साथ साथ नयी काया और कलेवर को लेकर वैश्विक मंच पर नई आभा बिखेरने के तैयार है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की सुदृढ़ हुई कानून व्यवस्था को लेकर कहा कि आज कोई अपराधी और माफिया सीना तानकर नहीं चल सकता। कोई माफिया किसी नंद किशोर रूंगटा का अपहरण करने का दु:साहस नहीं कर सकता। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा विश्वनाथ की इस पावन धरा पर मां गंगा की कृपा से परिपूर्ण प्रबुद्धजनों के बीच में, मैं अपने आप को पाकर हमेशा गौरवान्वित होता हूं। आप सब से संवाद के लिए किसी ना किसी बहाने मेरा काशी आना होता है। पिछले 6 साल के दौरान मेरी सर्वाधिक यात्रा काशी की हुई है। काशी की यात्रा इसलिए महत्वपूर्ण होती है क्योंकि ये भारत की आध्यात्मिक और सांस्कृतिक नगरी के रूप में दुनिया भर में  सनातनियों को अपनी ओर आकर्षित करती है। बीते 9 साल में पीएम ने काशी को कर्मसाधना स्थली बनाकर इसे नये कलेवर और काया के साथ वैश्विक मंच पर नई पहचान दी है। अभी हाल ही में काशी में दुनिया के बीस बड़े देशों का जी-20 सम्मेलन आयोजित हुआ। जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में भारत कर रहा है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि काशी में अब तीन गुना या चार गुना नहीं बल्कि कई गुना ज्यादा तेजी से विकास हो रहा है। सड़कों का चौड़ीकरण हो रहा है। शहर को चारों तरफ से फोर लेन की कनेक्टिविटी दी जा रही है। कैंट से गोदौलिया तक रोपवे बन रहा है, जिससे एक दिन में एक लाख लोग आ जा सकते हैं। काशी की चौड़ी और चमकती हुई सड़कें, स्वच्छता, टीएफसी, कन्वेंशन सेंटर, कैंसर संस्थान के रूप में विकास स्पष्ट दिखाई देता है। कहा कि यहां कैंसर संस्था में अबतक 21 हजार कैंसर मरीजों का उपचार किया जा चुका है। कहा कि स्थानीय विधायकों के सिफारिश पर मैंने खुद मुख्यमंत्री राहत कोष से 72 करोड़ रुपए कैंसर रोगियों के इलाज हेतु अवमुक्त किए। 
       मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने किसी भी योजना में बिना जाति, मत, मजहब देखे सबको लाभ दिया है। प्रधानमंत्री के मिशन को विजन मानकर तुष्टिकरण नहीं सशक्तिकरण पर ध्यान दिया। तुष्टिकरण ने यूपी का बेड़ा गर्क करके रख दिया था। आज यूपी में दंगे नहीं हो रहे, व्यापारियों से रंगदारी नहीं वसूली जाती। उपद्रव का स्थान उत्सवों ने ले लिया। 2017से पहले व्यापारियों से रंगदारी वसुली होती थी, आज उन्हें पीएम स्वनीधि से लाभान्वित किया जा रहा है। पार्टी विशेष के लोग तमंचे लेकर व्यापरियों को धमकाते थे। हमने युवाओं के हाथ में टैबलेट देकर उसे टेक्नॉलाजी से जोड़कर तकनीकी रूप से सक्षम बनाने का काम किया है। 2017 से पहले क्या स्थिति थी, किसी से छिपा नहीं है। शहर में शोहदों का आतंक था, मगर हमारे शहर आज सेफ सिटी बन चुके हैं। कूड़े के ढेर दिखते थे, आज स्मार्ट सिटी बन रहे हैं। गर्मी आते ही टैंकर से पानी पहुंचाने की नौबत आ जाती थी, आज हर घर नल योजना चल रही है। हमें प्रधानमंत्री जी के विजन को जमीन पर ले जाना है। 
      मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि ये चुनाव आम जनता की बुनियादी आवश्यकताओं को लेकर हो रहा है। सफाई, सुरक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करते हुए वाटर टैक्स, जाति प्रमाणपत्र, निवास प्रमाण पत्र निर्गत प्रक्रिया को कैसे सरल कर सकते हैं, कैसे इन व्यवस्थाओं को आनलाइन कर सकते हैं। ट्रैफिक मैनेजमेंट को कैसे सुधार सकते हैं, ये चुनाव इसपर आधारित है। अच्छी चमकती स्ट्रीट लाइट से लेकर पार्किंग, कन्वेंशन सेंटर जैसी आवश्यक   आवश्यकताओं की पूर्ति निकाय चुनाव तय करता है। एक सांसद और विधायक पैसा भेज सकता है, मगर जमीनी धरातल पर कार्य बोर्ड ही तय करता है। मेरा विश्वास है कि वही बोर्ड सबसे ज्यादा काम करेगा, जिसके साथ पहले से डबल इंजन की ताकत जुड़ी हो। काशी में 25 से 30 लाख लोग निवास कर रहे हैं। तीन इंजन एक साथ मिलकर चलते दिखेंगे तो जनता की हर आवश्यकता पूरी होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां पेजयल लाइन बिछाने में लापरवाही करने वालों पर हमने कठोर कार्रवाई करते हुए 36 इंजीनियर को एक साथ चार्जशीट दी थी। आज वाराणसी में हर परियोजना ऑटो मोड में आगे बढ़ रही है। निकाय चुनाव में काशी बेहतरीन परिणाम देने जा रही है।
अध्यक्षता एवं स्वागत भाषण क्षेत्र अध्यक्ष दिलीप सिंह पटेल ने, संचालन धर्मेंद्र सिंह ने व धन्यवाद ज्ञापन महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय ने किया। 
जबकि मंच व्यवस्था नवीन कपूर, जगदीश त्रिपाठी एवं आत्मा विश्वेश्वर ने की।
     
ये रहे मंचासिन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ   कैबिनेट मंत्री जयवीर सिंह, क्षेत्र अध्यक्ष दिलीप सिंह पटेल, कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार रविन्द्र जायसवाल, राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ दयाशंकर मिश्र दयालु, महापौर पद के प्रत्याशी अशोक तिवारी, पूर्व मंत्री एवं शहर दक्षिणी विधायक डॉ नीलकंठ तिवारी, कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक टी. राम,  विधान परिषद सदस्य अशोक धवन, विधायक सुशील सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम मोर्या, महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय, प्रदेश कोषाध्यक्ष मनीष कपूर मंचासिन रहे।

इनकी रही विशेष उपस्थिति

संवाद कार्यक्रम में अरूण कुमार सिंह, रमा रमन, विनोद कुमार गुप्ता, प्रो.डी.सी.राय, मुकुन्द कुमार सिंह, डा.जे.एन.सिंह रघुवंशी, महमूदुल हुसैन अंसारी, प्रमोद कुमार पाण्डेय, कन्हैयालाल गुप्ता, अजय सिंह, दिनेश चंद राय, दिलीप सिंह पटेल, प्रेम मिश्रा, केदार नाथ सिंह, चेतनारायण सिंह, सतीश चंद्र मिश्रा, प्रेम कपूर, क्षेत्रीय मीडिया प्रभारी नवरतन राठी, सह मीडिया प्रभारी संतोष सोलापुरकर,  प्रदीप अग्रहरि, मृदुला जायसवाल, सुरेश सिंह, राजेश त्रिवेदी, हरि मोहन शाह, गोकुल शर्मा, शैलेन्द्र मिश्रा, नम्रता चौरसिया, आलोक श्रीवास्तव,  नीरज जायसवाल, रजत जायसवाल, संदीप केशरी, मधुप सिंह, पूजा दिक्षित, डॉ रचना अग्रवाल, सुनीता सिंह सहित सैकड़ों की संख्या में  प्रबुद्ध जन उपस्थित रहे।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

5867


सबरंग