MENU

वाराणसी के मेयर पद पर 28 वर्षों से भाजपा का कब्‍जा, इस बार कौन बनेगा महापौर



 03/May/23

Nikay Chunav Mayer List : पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जब से मेयर की सीट अनारक्षित घोषित हुई, तब से सभी पार्टीयां अपने अपने उम्‍मीदवार घोषित करके जमकर प्रचार प्रसार कर रही हैं। कल शाम सभी प्रचार प्रसार पर विराम लग चुका है और आने वाला कल फिर तय करेगा की 28 वर्षों से लगातार भाजपा के रहे मेयरों के गढ़ बनारस में फिर से भाजपा के उम्‍मीदवार अशोक तिवारी को जनता अपना मेयर चुनेगी या विपक्ष की पार्टीयों में से किसी अन्‍य को।

इसी प्रकार वार्डों में सभासदों की बात करें तो यह पार्टी से नहीं व्‍यक्तिगत परिचय से ज्‍यादे चुने जाते हैं। बनारस में कई वार्ड ऐसे भी हैं जिनके पार्षद लगातार कई बार से जनता की पहली पसंद बन चुके हैं क्षेत्रीय जनता उनके कार्यों और व्‍यक्तिगत व्‍यवहार पर अपना नेता चुन लेती है। इस बार कुल 100 वार्डों में सभी पार्टीयों से सहित तमाम पार्टीयों के बागी अपनी किस्‍मत अजमा रहे हैं।

वाराणसी में मेयर पद के इतिहास की बात करें तो पिछली बार वर्ष 2017 में महापौर पद के लिए सीट महिलाओं के सुरक्षित की गई थी, उस समय बीजेपी की मृदुला जायसवाल ने महापौर का चुनाव जीती थीं। नगर निगम में 1995 से लेकर अब तक यह सीट भाजपा के खाते में गई है। नगर निगम से पहले महापालिका थी। नगर निगम की महापौर सीट पर बीते 28 साल से भाजपा का कब्जा रहा है। ऐसे में भाजपा के इस मजबूत गढ़ में सेंधमारी करना कांग्रेस, बसपा और सपा के लिए बेहद मुश्किल होगा।

नगर निगम में अब तक के महापौर का कार्यकाल

सरोज सिंह - 30 नवंबर 1995 से 29 नवंबर 2000 (ओबीसी महिला)

अमरनाथ यादव - 30 नवंबर 2000 से 20 जनवरी 2006 (ओबीसी पुरुष)

कौशलेंद्र सिंह - 17 नवंबर 2006 से 19 जुलाई 2012 (ओबीसी पुरुष)

रामगोपाल मोहले - 20 जुलाई 2012 से अगस्त 2017 (अनारक्षित)

मृदुला जायसवाल - 12 दिसंबर 2017 से 6 जनवरी 2023 (ओबीसी महिला)

 

नगर निगम बनने से पहले नगर प्रमुख
कुंजबिहारी गुप्ता - एक फरवरी 1960 से 30 अप्रैल 1962
बृजपाल दास - एक मई 1962 से 31 जनवरी 1966
श्याम मोहन अग्रवाल - पांच जुलाई 1968 से पांच जुलाई 1970
सरयू प्रसाद दूबे - छह जुलाई 1970 से पांच जुलाई 1971
पूरन चंद्र पाठक - छह जुलाई 1971 से 30 जून 1973 तक
मोहम्मद स्वालेह अंसारी - 12 फरवरी 1989 से पांच फरवरी 1994


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

2250


सबरंग