MENU

पीएम मोदी ने पुराने मंत्रीयों पर जताया ज्‍यादा भरोसा तो वहीं नई कैबिनेट में हुए कई दिग्‍गज शामिल



 11/Jun/24

PM Modi Cabinet 2024: वाराणसी से तीसरी बार सांसद चुने गये नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में तीसरी बार शपथ लेते ही इतिहास रच दिया है। मोदी भारतीय राजनीति के दूसरे ऐसे नेता बन गए है जिन्होंने लगातार तीसरी बार पीएम पद की शपथ ली है। पीएम मोदी के पास कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय, परमाणु ऊर्जा विभाग, अंतरिक्ष विभाग है। एनडीए के साथ गठबंधन के बाद पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नई सरकार के गठन के साथ ही मंत्रिमंडल में कई महत्वपूर्ण परिवर्तन और नए चेहरे शामिल किए गए हैं। पीएम मोदी के नए मंत्री मंडल में हर वर्ग को साधने की कोशिश की गयी है जो यह सुनिश्चित करता है कि सरकार हर वर्ग का सम्मान और समावेशी विकास के प्रति प्रतिबद्ध है।

मोदी कैबिनेट की बात करें तो इसमें छः पूर्व मुख्यमंत्री शामिल है। नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में वापसी करने वाले बड़े नामों में राजनाथ सिंह, अमित शाह, एस जयशंकर, निर्मला सीतारमण, नितिन गडकरी और पीयूष गोयल समेत अन्य शामिल हैं। बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान भी नए मंत्रिमंडल में शामिल है। बीजेपी ने प्रमुख पोर्टफोलियो अपने पास ही रखे है। गठबंधन के साथियों की ओर से मंत्रिमंडल में टीडीपी नेता राम मोहन नायडू और चंद्रशेखर पेम्मासानी जैसे नाम शामिल है साथ ही चिराग पासवान और जीतन राम मांझी जैसे नाम भी शामिल है।

वरिष्ठ भाजपा नेता और गांधीनगर से सांसद अमित शाह लगातार दूसरी बार केंद्रीय मंत्री के रूप में कार्यभार संभालेंगे, इसके साथ ही वह सहकारिता मंत्रालय का भी नेतृत्व करेंगे। नितिन गडकरी को फिर से उनका पुराना मंत्रलाय सड़क-परिवहन मंत्रालय दिया गया है तो वहीं मनोहर लाल खट्टर को ऊर्जा मंत्रालय और अर्बन मंत्रालय दिया गया है। जनता दल (यूनाइटेड) के नेता और मुंगेर के सांसद राजीव रंजन (​​​​ललन सिंह) पंचायती राज मंत्रालय के साथ-साथ मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय का संभालेंगे। जेपी नड्डा को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, एस जयशंकर विदेश और निर्मला सीतारमण के पास वित्त विभाग बरकरार है। हरदीप सिंह पुरी के पास पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय और सर्बानंद सोनोवाल के पास बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग मंत्रालय बरकरार है।

अन्नपूर्णा देवी ने महिला एवं बाल विकास मंत्री का पदभार ग्रहण किया है। अर्जुन राम मेघवाल ने कानून और न्याय मंत्रालय के लिए राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) का कार्यभार ग्रहण किया है।
पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी पदभार ग्रहण कर लिया है। प्रल्हाद जोशी ने उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री के रूप में भी पदभार संभाला। शिवराज सिंह चौहान ने केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री का पदभार संभाला। सावित्री ठाकुर महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री हैं। अश्विनी वैष्णव रेल मंत्री, सूचना और प्रसारण मंत्री और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री होंगे। राम नाथ ठाकुर कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री बने। अर्जुन राम मेघवाल कानून और न्याय मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और संसदीय कार्य मंत्रालय के राज्य मंत्री बने। मोदी 3.0 सरकार में सड़क परिवहन मंत्रालय में अजय टम्टा और हर्ष मल्होत्रा ​​दो राज्य मंत्री बनेंगे। मुरलीधर मोहोल नागरिक उड्डयन और सहयोग राज्य मंत्री हैं, रवनीत सिंह बिट्टू खाद्य प्रसंस्करण और रेलवे राज्य मंत्री हैं। दुर्गा दास उइके आदिवासी मामलों की राज्य मंत्री हैं, रक्षा खडसे युवा मामले और खेल राज्य मंत्री हैं, सावित्री ठाकुर महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री हैं। सुकांत मजूमदार शिक्षा और पूर्वोत्तर राज्य मंत्री हैं, तोखन साहू आवास राज्य मंत्री हैं, हर्ष मल्होत्रा ​​सड़क परिवहन और कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री हैं।

पिछले कुछ वर्षों में, सत्तारूढ़ दलों के भीतर विद्रोह के कई मामले सामने आए हैं, जिसके कारण विभाजन हुआ और सरकारें भी गिरीं जिस कारण स्पीकर का पद सबके लिए महत्वपूर्ण हो जाता है। ऐसे में एन चंद्रबाबू नायडू और नीतीश कुमार राजनीतिक दिग्गज हैं और स्पीकर का पद 'राजनीतिक बीमा' के रूप में चाहते हैं। लोकसभा अध्यक्ष (Lok Sabha Speaker) का पद भारतीय संसद के निचले सदन, लोकसभा, का एक महत्वपूर्ण और प्रतिष्ठित पद है। बता दें कि लोकसभा अध्यक्ष सदन की कार्यवाही को सुचारु रूप से चलाने के लिए जिम्मेदार होता है। अध्यक्ष का चुनाव लोकसभा के सदस्यों के बीच से ही किया जाता है, और यह चुनाव नई लोकसभा के गठन के बाद सबसे पहले होता है।


इस खबर को शेयर करें

Leave a Comment

5550


सबरंग